SEO kya hai

SEO क्या है? What is SEO in Hindi 2022 edition

SEO kya hai

अगर आप एक ब्लॉगर हैं, तो आप गूगल सर्च रिजल्ट में पहले नंबर पर आने का महत्व जानते ही होंगे । Google, Bing, Yahoo जैसे सर्च इंजन के सर्च रिजल्ट(SERP) में पहले पेज पर आने के लिए आपको “SEO क्या है? What is SEO in Hindi?” यह जानना ही होगा । क्योंकि SEO (Search Engine Optimization), उस तकनीक को कहते हैं जिसके जरिए आप किसी भी सर्च इंजन के बोट्स या एल्गोरिदम को यह प्रमाण देते हैं कि आप का ब्लॉग, ब्लॉग पोस्ट या वेबसाइट उसके सर्च रिजल्ट में पहले नंबर पर आने के योग्य है

ब्लॉग/वेबसाइट में ट्रैफिक आना बहुत जरूरी है । एक रिसर्च के मुताबिक 94% ट्रैफिक सर्च रिजल्ट के पहले पेज मे ही जाति है । उसमें से भी 70 से 80% ट्रैफिक सर्च रिजल्ट पेज के पहले तीन ब्लॉग/वेबसाइट पर ही जाति है । इसीलिए किसी भी ब्लॉग या वेबसाइट को सर्च रिजल्ट के पहले पेज में और खासकर पहले 3 नंबर में रैंक पाना बहुत जरूरी है ।

आप दो तरीकों से सर्च इंजन से डायरेक्ट ट्राफिक अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर ले जा सकते हैं । एक है SEM और दूसरा है SEO.

जहां SEM मे आप सर्च इंजन से पेड़ ट्राफिक अपने ब्लॉग/वेबसाइट पर लेकर जाते हैं, वहीं SEO में आप फ्री में सर्च इंजन के ट्रैफिक को अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर लेकर जाते हैं । इस तरह के ट्रैफिक को ऑर्गेनिक ट्रैफिक बोला जाता है । यह बहुत ही अच्छी क्वालिटी का ट्रैफिक होता है ।

यह भी पढ़ें –

SEO का महत्व क्या है?

Seo consultancy in hindi

बिना SEO किए आपका ब्लॉग पोस्ट या वेबसाइट गूगल के सर्च रिजल्ट में पहले नंबर पर आना लगभग नामुमकिन है । आए दिन लाखों ब्लॉग पोस्ट इंटरनेट में अपलोड होते हैं । वे सभी गूगल के सर्च रिजल्ट में पहले नंबर पर जगह पाने के लिए आपस में प्रतियोगिता करते हैं । और SEO ही वह तकनीक है जो उन्हें इस competition में सफल बनाता है और गूगल के सर्च रिजल्ट में पहले नंबर पर स्थान दिलवाता है । इसलिए एसईओ का ब्लॉगिंग में बहुत ज्यादा महत्व है । यही कारण है की SEO से जुड़े सवाल जैसे कि –

  • SEO क्या है और कैसे करते हैं?
  • SEO का क्या मतलब होता है?
  • SEO का महत्व क्या है?
  • SEO कितने प्रकार के होते हैं?
  • SEO kya hai hindi me?

बहुत ज्यादा पूछे जाते हैं । तो चलिए विस्तार में समझते हैं कि SEO क्या होता है और इसके कितने प्रकार होते है

Seo consultancy in hindi

SEO क्या है? What is SEO in Hindi?

SEO का फुल फॉर्म है Search Engine Optimization.

आप जब भी किसी सर्च इंजन में कुछ ढूंढते हैं तो उसका जवाब पहले से ही इंटरनेट में मौजूद होता है । वह जानकारी लिखित रूप में, वीडियो, ऑडियो या फोटो के रूप में भी हो सकता है । सर्च इंजन जैसे कि गूगल, बस उसे ढूंढ कर लाने का काम करता है । फिर वह जानकारियां गूगल के सर्च रिजल्ट पेज(SERP) पर आपको दिखता है । इसके लिए गूगल जिस खास तकनीक की सहायता लेता है सर्च रिजल्ट्स को अपने पेज पर रैंकिंग देने के लिए उसका नाम है SEO ।

जरा सोचिए लाखों-करोड़ों सर्च रिजल्ट मे से गूगल को कैसे पता चलता है कि आपके पूछे गए सवाल का सही जवाब कौन सा है? करोड़ों जानकारियों में से किस जानकारी को आप ढूंढ रहे हैं?

गूगल कोई इंसान नहीं, वह तो एक सर्च इंजन है । वह वोट्स तथा एल्गोरिदम की मदद से अपना काम करता है ।

अर्थात गूगल एल्गोरिदम में पहले से बनाए गए कुछ प्रोग्राम होते हैं, जो लोगों के द्वारा पूछे गए सवाल, और blogers के द्वारा लिखे गए blogs को जांचने परखते हैं । अगर दोनों में समानता दिखती है, तो गूगल एल्गोरिदम को लगता है कि इस सवाल का यही सही जवाब है । फिर वह उस आर्टिकल या ब्लॉग पोस्ट को सवाल पूछने वाले के सामने सर्च रिजल्ट में पहले स्थान पर या पहले पेज पर दिखा देता है ।

अब गूगल को यह समझाने के लिए की जो सवाल पूछा गया है, उसका जवाब इस आर्टिकल में है, हमें एक तकनीक का इस्तेमाल करना पड़ता है, जिसे SEO कहते हैं

गूगल बोट्स या एल्गोरिदम SEO को आसानी से समझ लेता है । अगर SEO नहीं किया गया और गूगल यह समझ नहीं पाया कि वास्तव में आपका लेख किन किन प्रश्नों का उत्तर है, उस लेख को किन लोगों को दिखाना है, तो वह आपके ब्लॉग को रैंकिंग में पीछे कर देगा । आपका ब्लॉग या आर्टिकल गूगल के पहले पेज पर स्थान नहीं पाएगा । ऐसे में आपको कितना ज्यादा नुकसान है आप सोच ही सकते हैं । ना आपके ब्लॉग में कोई ट्रैफिक होगा, ना आपके ब्लॉग से कोई कमाई होगी । इसीलिए ब्लॉगिंग में SEO बहुत ही महत्वपूर्ण है

देखिए संभव है कि आपने बहुत अच्छा आर्टिकल लिखा है । पर याद रखिए गूगल कोई इंसान नहीं । वह तो एक सर्च इंजन है । Google प्रोग्रामिंग और टेक्नोलॉजी की भाषा समझता है । हालांकि बिना SEO वाले आर्टिकल को भी वह रैंक देता है, पर SEO किए गए आर्टिकल के बाद ।

aapkarupaya.in

अब जैसे कि आपने गूगल में ढूंढा “SEO क्या है?” और गूगल सर्च रिजल्ट पेज(SERP) में आपको मेरा यह ब्लॉग पोस्ट दिखा । जिस पर क्लिक करके आप मेरे ब्लॉग पर आए और यह आर्टिकल पढ़ रहे हैं ।

जाहिर सी बात है सर्च रिजल्ट पेज में मेरा यह आर्टिकल पहले ही पेज में रैंक कर रहा होगा । अगर यह 10वीं या 12वीं नंबर के पेज पर रैंक कर रहा होता तो क्या आप मेरे इस ब्लॉग पोस्ट या आर्टिकल तक पहुंच पाते?

अगर आप एक के बाद एक आगे बढ़ते जाएंगे तो आपको लाखों ब्लॉग पोस्ट मिल जाएंगे “SEO क्या है” उस विषय पर ।

इसके बावजूद मेरा ब्लॉग पोस्ट पहले पेज पर क्यों रैंक किया? क्योंकि मैंने इस पर अच्छे से SEO कर रखा है, इसी कारण मेरा यह ब्लॉग पोस्ट search results के पहले पेज पर रैंक हो पाया ।

तो अब आप निश्चित रूप से यह समझ गए होंगे कि SEO क्या है

SEO कितने प्रकार के होते हैं और क्या-क्या?

SEO 12 प्रकार के होते हैं –

  1. व्हाइट-हैट एसईओ (White-Hat SEO)
  2. ब्लैक-हैट एसईओ (Black-Hat SEO)
  3. ग्रे-हैट एसईओ (Gray-Hat SEO)
  4. ऑन-पेज एसईओ (On-Page SEO)
  5. ऑफ-पेज एसईओ (Off-Page SEO)
  6. टेक्निकल एसईओ (Technical SEO)
  7. इंटरनेशनल एसईओ (International SEO)
  8. लोकल एसईओ (Local SEO)
  9. ई-कॉमर्स एसईओ (E-commerce SEO)
  10. कंटेंट एसईओ (Content SEO)
  11. मोबाइल एसईओ (Mobile SEO)
  12. नेगेटिव एसईओ (Negative SEO)

इन सभी प्रकार के एसईओ के बारे में जानने के लिए हमारा अगला लेख 12 प्रकार के SEO पढ़ें ।

FAQ

SEO क्या है?

गूगल एल्गोरिदम के मुताबिक अपने वेबसाइट तथा आर्टिकल को ऑप्टिमाइजेशन करने को SEO कहते हैं । इसे विस्तार में समझने के लिए हमारा यह आर्टिकल SEO क्या है पढ़ें ।

SEO का full form क्या है?

SEO का full form है Search Engine Optimization.

SEO क्यों किया जाता है?

SERP मैं बेहतर रैंकिंग के लिए SEO किया जाता है ।

क्या SEO हमेशा बदलता रहता है?

जी हां, SEO हमेशा बदलता रहता है । क्योंकि गूगल अपने एल्गोरिदम में लगातार परिवर्तन करता रहता है । इसी कारण गूगल एल्गोरिदम के मुताबिक SERP में बेहतर रैंक पाने के लिए SEO में भी परिवर्तन करते रहना पड़ता है ।

बिजनेस में SEO कैसे काम करता है?

Digitalisation के जमाने में जो भी बिजनेस online जाएगा और SERP मैं ऊपर रैंक पाएगा, निश्चित रूप से वह प्रगति करेगा और बहुत ज्यादा लाभान्वित होगा, क्योंकि आजकल हर कोई गूगल पर ही सबसे ज्यादा भरोसा करता है और कुछ भी जरूरत हो तो गूगल में ही ढूंढता है ।

सबसे बेस्ट SEO strategy क्या है?

ऐसा कोई भी SEO strategy नहीं जो सबसे बेस्ट हो । फिर भी जितना हो सके गूगल एल्गोरिदम फ्रेंडली और यूजर फ्रेंडली आर्टिकल लिखें, वही बेस्ट SEO strategy है ।

निष्कर्ष

तो इस लेख से आपने समझा SEO क्या है? What is SEO in hindi. गूगल के एल्गोरिदम को अपने कंटेंट को अच्छे से समझाने के लिए हम जिस तकनीक का इस्तेमाल करते हैं उसे SEO कहा जाता है । आप अपने कंटेंट का जितना अच्छा SEO करेंगे उसका गूगल के पहले पेज पर रैंक होने की संभावना उतना ज्यादा बढ़ जाता है । SEO का प्रक्रिया निरंतर बदलता रहता है । इसीलिए गूगल एल्गोरिदम में आने वाले परिवर्तनों के मुताबिक इसे अपडेट करते रहना पड़ता है । इसीलिए इसकी पूरी संभावना है कि जो SEO strategies पहले काम करते थे वह आगे जाकर काम ना करें । ऐसी स्थिति में आप को निरंतर SEO के बारे में सीखते रहना पड़ेगा ।

Similar Posts

Leave a Reply